Advertisement

MUZAFFARPUR : जिले के एसकेएमसीएच के कोरोना वार्ड में भर्ती एक मरीज की सोमवार की देर रात इलाज के दौरान मौत हो गई. जिसके बाद उनके परिजनों ने शव को ले जाने से इंकार कर दिया. अस्पताल प्रशासन ने शव देने के लिए फोन भी किया, लेकिन पत्नी ने शव लेने से इंकार कर दिया. परिजन संक्रमित होने के डर से शव को लेने से इंकार कर दिया.

Advertisement

मृतक भगवानपुर के रहनेवाले थे. वे वैशाली जिले के एक अधिकारी के बहनाेई थे और तीन दिन पहले कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उन्हें एसकेएमसीएच में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था. मंगलवार की शाम तक उनका शव अस्पताल में ही पड़ा रहा.

इसके बाद प्राचार्य ने सदर अस्पताल से कोरोना मॉर्चुरी वैन मंगवाया और शव का डिस्पोजल कराया. चार स्वीपर को पीपीई किट पहनाकर प्रोटोकॉल के अनुसार शव का अंत्येष्टि करायी गयी है. प्राचार्य ने बताया कि कोरोना से मौत को लेकर दाह संस्कार करने के लिए अस्पताल के ही चार स्वीपर को मेंबर बनाया गया है. सभी का अकाउंट नंबर और आधार कार्ड लेकर सरकार को भेज दिया गया है.
Source – First Bihar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here