Advertisement

पटना डेस्क: दुसरे राज्यों से खुद से आने वाले प्रवासी मजदूरों को भी बिहार सरकार ने एक हजार रूपए देने का ऐलान किया है. बाहर के राज्यों से आने वाले प्रवासी मजदूरों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है. ऐसे में बिहार सरकार ने कहा था कि जिन मजदूरों को श्रमिक स्पेशल ट्रेन से लाया जा रहा है उन्हें ही बिहार सरकार किराया और 500 रुपया ऊपर से देगी. जो राशि न्यूनतम 1000 रूपये की होगी.

Advertisement

बिहार सरकार ने अपने फैसले में कहा है कि ट्रेनों के अलावे बसों या फिर पैदल या किसी अन्य संसाधनों से पहुंचने वाले मजदूरों के खाते में भी सरकार एक हजार रुपये डालेगी। इससे पहले बिहार सरकार ने केवल ट्रेनों से बिहार पहुंचने वाले मजदूरों को ही राहत राशि के तौर पर उन्हें क्वरेंटाइन सेंटर में रखने के बाद एक हजार रुपये देने का फैसला किया था। लेकिन ट्रेनों के अलावे हजारों की संख्या में मजदूर अन्य संसाधनों से लगातार बिहार पहुंच रहे हैं। रोजाना सैकड़ों की संख्या में मजदूर तो पैदल ही बिहार पहुंच रहे हैं। इसके बाद सरकार ने ये बड़ा फैसला लिया है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here