Advertisement

पटना डेस्क(अखलाख सिद्दीकी): प्रवासी मजदूर कल तक दाने-दाने को मोहताज थे, परेशान थे कि बिहार सरकार उन्हें घर लाने का प्रबंध नहीं कर रही है. अब जब ये घर वापस आ गए हैं, क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए हैं, वहां उन्हें भोजन मिल रहा है, तो उस अन्न को लात मार दे रहे हैं. आरोप लगा रहे हैं कि खाना घटिया है. स्वाभाविक है इस भीषण महामारे के समय में इतने बड़े स्तर पर भोजन के प्रबंध में चूक हो सकती है. लेकिन उस अन्न को तिरस्कृत कर देना समझ से पड़े है.

Advertisement

ताजा मामला मधुबनी जिला के मधवापुर प्रखंड अंतर्गत मध्य विद्यालय, साहरघाट का है. जहां क्वारंटाइन सेंटर में टेबल पर परोसे हुए भोजन को एक प्रवासी मजदूर ने लात मारकर गिरा दिया. वहीं मौजूद महिला रसोइया के साथ अभद्रता भी किया.

बता दें कि उक्त मामले में आरोपी मजदूर के ऊपर प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. क्वारंटाइन सेंटर के प्रभारी ने बीडीओ बैभव कुमार से कार्रवाई की मांग की थी. उक्त घटना को लेकर मधवापुर बीडीओ ने कहा कि महिला रसोइया जान जोखिम में डालकर प्रवासियों को खाना खिला रही हैं, ऐसे में उनके साथ की गई अभद्रता अमानवीय और अनुचित है. आरोपी के ऊपर प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

बिहार के मधुबनी जिला के मधवापुर प्रखंड अंतर्गत साहरघाट कोरंटाइन सेंटर में प्रवासी मजदूरों ने खाना खाने से किया इंनकार.

Posted by ABP Bihar on Monday, May 18, 2020

जिन तीन प्रवासी के ऊपर प्राथमिकी दर्ज की गई है उनके नाम हैं:

  1. पंकज कुमार राय, पिता: रामाशीष राय
  2. मनोज कुमार राय, पिता: रामाशीष राय
  3. अशोक कुमार साहू, पिता: सबूरी साहू

बता दें कि मध्य विद्यालय साहरघाट क्वारंटाइन सेंटर पर 25 प्रवासी मजदूर रह रहे हैं.

14 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here