प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर
Advertisement

लॉकडाउन में मजदूरों के घर वापसी के मुद्दे पर राजनीति थमने का नाम नहीं ले रही है। पहले यूपी की योगी सरकार ने कांग्रेस से बस उपलब्ध कराने को कहा, जिस पर प्रियंका गांधी ने बसों की सूची तो भेजी लेकिन सूची में अधिकतर रजिस्ट्रेशन नंबर बसों के बजाय ऑटो, बाइक और कार के थे। जिसके बाद से ही कांग्रेस पार्टी की काफी फजीहत हो रही है। इस मुद्दे पर कांग्रेस अपना बचाव कर भी ही नहीं पायी थी कि एक नए मुद्दे को लेकर कांग्रेस पार्टी को ट्रोल किया जा रहा है।

Advertisement

राम का नाम लेकर बेटियों के सामने अश्लील हरकत करते हैं संघी: कांग्रेस नेता

दरअसल, कांग्रेस नेता और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य पंकज पूनिया के एक ट्वीट के कारण विवाद बढ़ गया है। पंकज पूनिया ने ट्वीट किया कि कांग्रेस सिर्फ मज़दूरों को अपने खर्च पर उनके घर पहुंचाना चाहती थी। बिष्ट सरकार ने राजनीति शुरू की। भगवा लपेटकर नीच काम संघी ही कर सकते हैं। ये कब्र से निकालकर लाशों का बलात्कार करने वाले लोग हैं। बेटियों के सामने पैंट उतारकर जै श्रीराम के नारे लगाते हुए हस्तमैथुन करने वाले लोग हैं।

पंकज पूनिया का ट्वीट

इस विवादस्पद ट्वीट के बाद से ही ट्वीटर पर कांग्रेस पार्टी और पंकज पूनिया को ट्रोल किया जाने लगा। लोग ट्वीट करते हुए मांग कर रहे हैं कि सरकार जल्द से जल्द पंकज पूनिया को हिरासत में ले। हालांकि, विवाद बढ़ते ही पंकज पूनिया ने अपने इस ट्वीट को डिलीट कर लिया। लेकिन तब तक लोग ट्वीट का स्क्रीनशॉट ले चुके थे। सूत्रों के माध्यम से यह खबर मिल रही है कि इस मामले को लेकर उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार जल्द ही कोई शिकायत दर्ज करवा सकती है। लेकिन अभी तक शिकायत दर्ज होने की पुष्टि नहीं हुई है।

मध्य प्रदेश के युवा भाजपा नेता सुयश मिश्रा ने इस ट्वीट को अमानवीय बताया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि पंकज पूनिया जैसे असभ्य लोग जानवरों से भी बदतर हैं, कोई भी सभ्य समाज इन जैसे मानव जाति के दुश्मनों को कैसे बर्दास्त कर सकता है? ऐसे लोगों का गिरफ्तार होना बेहद जरूरी है।

बता दें कि हैशटैग #अरेस्ट_पंकज_पूनिया के साथ 1 लाख 70 हजार से अधिक लोग ट्वीट कर चुके हैं और पिछले कई घंटों से यह हैशटैग ट्वीटर पर भारत में पहले स्थान पर ट्रेंड कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here