Advertisement


Advertisement

राजस्थान में सियासी संग्राम के बीच अब विधायकों को सुरक्षित रखना बड़ी चुनौती बन गया है। 14 अगस्त को विधानसभा सत्र आहुत होगा। इससे पहले सभी विधायकों को एक जगह और सुरक्षित रखने के लिए अब जयपुर से दूसरी जगह शिफ्ट करने का प्लान बनाया गया है। सभी विधायकों से कहा गया है कि वह 15 दिन का सामान घर से मंगा लें। इसके अलावा विधायकों को अपना आईडी कार्ड साथ रखने को कहा गया है।

विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार, विधायकों को जैसलमेर के सूर्यगढ़ में शिफ्ट किया जा सकता है। यहां पुलिस सुरक्षा बढ़ा दी गई है। लेकिन ये भी माना जा रहा है कि सरकार इन विधायकों को कहीं दूसरी जगह भी शिफ्ट कर सकती है।

गुरुवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई थी और आज (शुक्रवार को) भी विधायक दल की बैठक होनी है। गुरुवार को सीएम ने बैठक के बाद बीजेपी पर षड़यंत्र का आरोप लगाया था। इस बैठक में विधायकों को बताया कि 14 अगस्त को विधानसभा सत्र से पहले होटल से ही रहना है।

विधायकों की कीमत 10-15 से बढ़कर 20 से 25 करोड़ हुई: अशोक गहलोत

आपको बता दे कि सीएम गहलोत ने कहा था कि जब से विधानसभा सत्र का ऐलान हुआ है, तभी से हॉर्स ट्रेडिंग तेज हो गई है। गहलोत ने आरोप लगाया था कि अब विधायकों के दाम बढ़ गए है। इन सबके बीच कल स्पीकर और वैभव गहलोत के बीच बातचीत का वीडियो वायरल होने के बाद सरकार के सामने संकट बढ़ गया है। इससे बीजेपी को एक और मौका मिल गया।

इससे साफ है कि गहलोत भी अपने विधायकों पर भरोसा नहीं कर रहे है। सरकार को संदेह है कि अगर विधायक टूटते है तो हल्ला करने के अलावा कुछ नहीं कर सकते इसलिए सभी विधायकों को सुरक्षित जगह पर शिफ्ट करने का प्लान किया जा रहा है।



Source/First Published on

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here