Advertisement


Advertisement

लॉगडाउन में शहरों से भागकर आए श्रमिक अब फिर से परदेश की ओर पलायन कर रहे हैं। एक जून से स्पेशल ट्रेनों की सेवा रेलवे ने आम लोगों के लिए शुरु की थी। इन 27 दिनों में सबसे अधिक लोग शनिवार को मुजफ्फरपुर जंक्शन से दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, गुजरात और मुम्बई के लिए रवाना हुए। रेलवे के आकड़ों के अनुसार शनिवार को 2619 यात्री छह ट्रेनों में सवार होकर रवाना हुए। एक जून से मुजफ्फरपुर जंक्शन से अबतक करीब 54 हजार से अधिक यात्री विभिन्न शहरों के लिए पलायन कर चुके हैं।

 

दिल्ली के लिए 956 और पंजाब के लिए 713 लोग ट्रेनों से रवाना हुए। लगातार हो रहे पलायन के पीछे के कारणों को जानने के लिए टीम ने यात्रियों से बात की।

 

 

यात्रियों ने बताया कि वह दिल्ली और पंजाब में नौकरी कर रहे थे। लॉगडाउन के बाद किसी तरह वह वापस घर आ गए अब फैक्ट्री मालिक, दुकान संचालन, बैकरी ऑनर समेत अन्य कंपनियों से वापस बुलाया जा रहा है। परिजनों का पेट भरने के लिए वह कोरोना के डर को छोड़ बाहर रोजगार करने रवाना हुए हैं।

 

यात्री संतोष कुमार ने कहा कि वह पाईप बनाने की फैक्ट्री में काम करते थे। सोचा था अब घर पर ही रहेंगे लेकिन रोगजार नहीं मिला तो दिल्ली जाने के अलावे उनके पास कोई चारा नहीं बचा है।

Ads

दरभंगा के रहने वाले राम नरेश झा ने बताया कि वह एमबीए किये हुए हैं हरियाणा के हिसार में वह फर्नीचर की दुकान में काम करते हैं। लॉकडाउन में घर लौट आये थे लेकिन अब मजबूरी है वापस लौट रहे हैं। उन्होंने बताया कि अगर कमाएंगे नहीं तो क्या खाएंगे। उन्होंने बताया कि सरकार की घोषणाओं के अनुसार हमने जिला प्रशासन के बेवसाइट पर नौकरी के लिए काफी छानबीन की लेकिन कहीं वैकेंसी नहीं दिखा।


Sorry! The Author has not filled his profile.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here